asd

pankaj udhas biography in Hindi

pankaj udhas biography in Hindi

       
pankaj udhas biography in Hindi
pankaj udhas biography in Hindi



 इस पोस्ट में हम बात करते है ग़ज़ल गायक पंकज उदास के बारे में जो गजल संगीत को एक अलग मुकाम तक पहुंचये है

       

                         Biography

पंकज उदास जी का जन्म 17 may1951 को गुजरात के राजकोट के जोतपुर में हुआ पंकज जी का पिता का नाम केशुभाई उदास  और माता का नाम जितुबाई उदास है इसका पिता खेती किसानी के भी करीब था उदास जी को गाने शौक़ बचपन से ही था बड़े भाई जो कि फिल्म का गायक था और दूसरे बड़े भाई निर्मल उदास गजल गायक थे!




ये मेरे वतन के लोगो यहां गाना पंकज जी ने वतन के लिए गया था जिस समय भारत और चीन का युद्ध हो रहा था उस गया जिससे उनको 51₹ का पुरस्कार प्रदान हुआ यहां 51₹ ही नहीं था उस समय इनका 51₹ बहुत वॉल्यू था




इनका पढ़ाई BBTI भान नगर से पूरा हुआ इसके बाद पूरा परिवार मुंबई शिप्ट हो गये यहां पंकज जी सेन जेबियास कॉलेज में दाखिल हो गए उदास जी राजकोट के संगीत नाटकीय में भी हिस्सा लिया था यहां पर तबला संगीत का ज्ञान लिया और गायन को भी रियालसल किया इनका गुरु मास्टर नवरंग थे 



उदास जी को कामना में गाने का मौका मिला था लेकिन यहां फिल्म कमाल ना कर पाई उर्दू का ज्ञान लेकर विदेश जाने का मन बनाया उसके बड़े भाई उन्हें यहां बताया कि अगर ग़ज़ल गाने में जाना चाहते है तो मेहंदी हसन और बेगम अख्तर को फॉलो करो बहुत दिमोटिवेट होने के चलते आखिरकार पंकज जी विदेश चला गया





विदेश जाने के लिए उन्होंने कनाडा चुना क्योंकि कि कनाडा के लोग भारतीय संगीत काफी सुना करते हैं विदेश में कई सारे गजल का कार्यक्रम किये लेकिन इनके मन में यह खयाल आने लगा क्यों ना अपना ही देश में नाम रोशन करूं 


1980 में पंकज जी का पहला गजल गाना लांच किया जिसका नाम है आहत फिर इन्होंने गजल में वहां गाना गाया है जो इनको रातों-रात फेमस कर दिए यहां गाना है चिट्ठी आई है वतन से चिट्ठी आई है इस गाना के बाद पंकज जी लोगों के दिलों में जगह बनाने में कामयाब रहा


                           विवाह


पंकज जी का विवाह 1982 को फरिता जी से हुआ तथा इनके दो बेटी भी है रेवा और नायब इनका गाए हुए कुछ गाना
1. चिट्ठी आई है।  2. ना कजरे की हार।  3.साजन
4. ये दिल्लगी! 5. नाम।  6. फिर तेरी कहानी याद आई
आदि फिल्मों में गाना गाया और लोगों के द्वारा काफी पसंद किया गया



इन्होंने उस समय में गजल गायक में अपना नाम किया जिस समय मोहब्बत रफी साहब किशोर दा साहब मन्नदे साहब और मुकेश जी का बोला बला था दिग्गज नामों के बीच पंकज जी अपना एक अलग नाम बनाया


गजल के दुनिया में एक प्रसिद्ध गायक है।

        
                             -धन्यवाद-

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां